You Are Here: Home » साहित्य » जिंदगी है आपकी बस संभावनाओं में जियो

जिंदगी है आपकी बस संभावनाओं में जियो

ना अभाव में जियो, ना प्रभाव में जियो
जिंदगी है आपकी बस संभावनाओं में जियो
होठों को हंसाया कर तुम गमो को भुलाया करो
फितरती लोगों में कभी खुद को भी आजमाया करो

जिंदगी जुआ है जिसमें हार जाना है एक दिन
हारने से पहले तुम जीत का जश्न मनाया करो
बहुत हसीन होती है सपनों की दुनिया यारो
खुद भी खो जाया करो दूसरों को भी दिखाया करो

जब छूट ही जाना है सबका साथ एक दिन
दोस्तों का हाथ थाम, कुछ दूर तक जाया करो
मजहबीं झगड़ों में जिंदगी गंवाते लोगों को
मजहब से हटकर जीना कभी सिखाया करो

हां, माना नहीं मिलता सच्चा प्यार हर किसी को
खुद के इश्क में सही, खुद ही डूब जाया करो
इंसानियत निखार देती है जीवन इंसान का
कभी किसी गरीब को कुछ सहारा दे आया करो

समझदारी से उम्र खोकर तुम्हें हासिल क्या हुआ
बच्चा बनकर मां बाप से जिद्द कभी कर आया करो
हम उम्र के पड़ाव में दिल को बस बच्चा रखना
इसीलिए जब वक्त मिले बच्चों में बच्चा बन जाया करो

ये आलीशान इमारत, रिश्ते नाते, और शान शौकत
हकीकत समझने इनकी कभी शमशान हो आया करो
ना अभाव में जियो, ना प्रभाव में जियो जिंदगी है आपकी बस संभावनाओं में जियो!!!

All Rights Reserved to Weekand Times . Website Developed by Prabhat Media Creations.