You Are Here: Home » UTTAR PRADESH » अब वीरों की धरती बुंदेलखंड से सियासी दांव-पेच चलेगी कांग्रेस, निशाने पर भाजपा

अब वीरों की धरती बुंदेलखंड से सियासी दांव-पेच चलेगी कांग्रेस, निशाने पर भाजपा

निकाय चुनाव को पूरी ताकत से लडऩे की तैयारी में जुटी पार्टी
झांसी और चित्रकूट मंडल में नेताओं ने बनाई रणनीति

वीकएंड टाइम्स न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। निकाय चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस अब वीरों की धरती बुंलेदखंड से सियासी दांव-पेच चलने की तैयारी कर रही है। पार्टी नेतृत्व ने यहां अपनी सरगर्मियां बढ़ा दी हैं। कांग्रेस के निशाने पर भाजपा है। इसके अलावा निकाय चुनाव में कांग्रेस बसपा में हुई बगावत का भी फायदा उठाने की रणनीति बना रही है। भाजपा को घेरने के लिए वह लोगों को यूपीए सरकार में बुंदेलखंड को दिए गए पैकेज की भी याद दिलाएगी।
प्रदेश में अपनी राजनीतिक जमीन को मजबूत करने के लिए कांग्रेस लगातार कोशिशें जारी रखे हुए है। यही वजह है कि पार्टी पिछले विधानसभा चुनाव में सपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ा। अब उसकी नजर निकाय चुनाव पर है। इस जंग को जीतने के लिए उसने कमर कस ली है। यही वजह है कि पिछले दिनों पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने झांसी व चित्रकूट मंडल के प्रमुख नेताओं से सियासी हालात पर चर्चा की। इस बैठक में निकाय चुनाव पूरी ताकत से लडऩे का फैसला लिया गया। इस बैठक में पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य, ओमप्रकाश रिछारिया, विवेक कुमार सिंह, बादशाह सिंह, विनोद चतुर्वेदी, दलजीत सिंह और गयादीन अनुरागी सहित जिला व शहर अध्यक्षों समेत अन्य प्रमुख नेता मौजूद रहे। दो घंटे से अधिक समय तक चली बैठक में निकाय चुनाव व स्थानीय स्तर पर पार्टी को मजबूत करने पर चर्चा हुई। पदाधिकारियों का मानना है कि बदले सियासी हालात में बुंदेलखंड में कांग्रेस के लिए संभावना बेहतर है। कांग्रेस यहां राहुल गांधी द्वारा बुंदेलखंड क्षेत्र में लगातार संपर्क संवाद करने का लाभ उठा सकती है। यही नहीं कांग्रेस की नजर बसपा की बगावत में बाद उपजी स्थितियों का फायदा उठाने पर भी लगी है। बसपा में बगावत का असर बुंदेलखंड पर अधिक दिख रहा है। इसका लाभ उठाने के लिए कांग्रेस नेतृत्व कार्ययोजना और रणनीति बनाने में जुट गया है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता वीरेंद्र मदान का कहना है कि नगर निगम, पालिका परिषद और नगर पंचायत चुनाव मजबूती से लड़ा जाएगा और पुराने व समर्पित कार्यकर्ताओं को सम्मान दिलाया जाएगा। प्रत्याशी चयन में आम सहमति बनाने पर बल देते हुए जातिगत समीकरण का भी ध्यान रखा जाएगा।

कांग्रेस का दामन थाम रहे बसपाई

कांग्रेस मुख्यालय में गत रविवार को बहुजन समाज पार्टी को छोडक़र सदस्यता ग्रहण करने वालों की संख्या अच्छी-खासी थी। प्रदेश उपाध्यक्ष व ज्वाइनिंग प्रभारी मदन मोहन शुक्ला ने बसपा छोड़ कांग्रेस का दामन थामने वालों को पार्टी की सदस्यता दिलायी। लखनऊ, बांदा व बहराइच जिले के सैकड़ों लोगों ने बसपा छोडक़र कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। सदस्यता ग्रहण करने वालों में लखनऊ से प्रो. फहीमुद्दीम, डॉ. तौसीफ आलम, डॉ. मिनहाज हुसैन, बहराइच से अलका महफूज, अरशद सिद्दीकी व बांदा के पूर्व सदस्य जिला पंचायत और मंडल को-आर्डिनेटर मोहम्मद इदरीश, अब्दुल अजीज खां सेवानिवृत्त चिकित्साधिकारी व सुरेंद्र कुमार नामदेव प्रमुख थे। कांग्रेस में शामिल होने वालों का स्वागत करते हुए प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने पार्टी की विचारधारा व संगठन को मजबूत बनाने की बात कही।
चलेगा बैठकों का दौर
निकाय चुनाव की तैयारी के लिए 24 अक्टूबर यानी आज प्रदेश मुख्यालय में लखनऊ, कानपुर, बरेली व फैजाबाद मंडल के जिलों की बैठक होगी। 25 अक्टूबर को देवीपाटन, बस्ती, गोरखपुर व आजमगढ़ मंडल तथा 26 अक्टूबर को वाराणसी, मिर्जापुर, इलाहाबाद व आगरा मंडल के तहत आने वाले जिला व शहर अध्यक्षों व प्रमुख नेताओं की बैठक होगी।
यूपीए बनाम एनडीए की जंग
बुंदेलखंड क्षेत्र के लिए यूपीए शासनकाल में स्वीकृत पैकेज की जनता को याद दिलाने के साथ एनडीए सरकार की विफलता को कांग्रेस प्रचारित करने की तैयारी में है। इसके अलावा पार्टी नोटबंदी व जीएसटी के साथ बढ़ती मंहगाई को भी मुद्दा बनाएगी।
निकाय चुनाव को लेकर पार्टी ने अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं। चुनाव पूरे दमखम से लड़ा जाएगा और कांग्रेस अपना परचम फहराएगी।
-दीपक सिंह
एमएलसी, कांग्रेस

All Rights Reserved to Weekand Times . Website Developed by Prabhat Media Creations.