You Are Here: Home » carrier » जानें, क्यों है वोकेशनल कोर्स बेहतर विकल्प

जानें, क्यों है वोकेशनल कोर्स बेहतर विकल्प

डिशनल कोर्स ही नहीं, वोकेशनल प्रोग्राम में भी स्कोप है। पिछले कुछ सालों में वोकेशनल फील्ड को चुनने का ट्रेंड बढ़ा है। दिल्ली सरकार ने भी आईटीआई और पॉलीटेक्निक में कई खास कोर्स शुरू किए हैं। साथ ही, इनके कुछ पुराने कोर्सेज की भी डिमांड हर साल बढ़ती जा रही है। 12वीं के बाद ही अपनी पसंद का प्रोग्राम चुनकर स्टूडेंट्स इन कोर्सेज के जरिए अपने हुनर को और निखार सकते हैं। इन कोर्सेज को करने के बाद स्टूडेंट्स को जल्द ही जॉब मिल भी जाती है, साथ ही अपना काम शुरू करने का मौका भी होता है। ये प्रोफेशनल प्रोग्राम हैं, जो स्टूडेंट्स की फील्ड बेस्ड स्किल्स को बढ़ाते हैं।

आईओटी में ऑप्शन
डिप्लोमा लेवल पर आईओटी दो से चार साल के कोर्स ऑफर करती है। ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर असिस्टेंटशिप, केमिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इंस्ट्रूमेंटेशन एंड कंट्रोल इंजीनियरिंग समेत टेक्नॉलेजी के कई और कोर्स में स्टूडेंट्स तीन साल का कोर्स कर सकते हैं। एक्सपट्र्स बताते हैं कि इन सभी कोर्सेज में काफी अच्छा स्कोर है।
अगर आपकी दिलचस्पी आर्ट और डिजाइन में है तो इन इंस्टीट्यूट में टेक्सटाइल डिजाइन (3 साल), टूल एंड डाई मेकिंग (4 साल), टेक्सटाइल डिजाइन (3 साल), आर्ट फॉर ड्रॉइंग टीचर (3 साल) का ऑप्शन स्टूडेंट्स के पास है।
एक्सपर्ट्स का कहना है कि इन कोर्सेज के बाद अपना काम शुरू करने का स्कोप काफी अच्छा है। इस लिस्ट में फैशन डिजाइनिंग, गारमेंट फैब्रिकेशन टैक्नॉलजी, इंटिरियर डिजाइन भी शामिल हैं। हेल्थ सेक्टर में जाना है तो स्टूडेंट्स कॉस्मेटॉलजी एंड हेल्थ, फार्मेसी में भी डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। लाइब्रेरी एंड इंफार्मेशन साइंस और मॉर्डन ऑफिस प्रैक्टिस भी सरकार के हिट प्रोग्राम हैं।
आईटीआई में कई स्कोप
आईटीआई में भी कई ट्रेड के साथ कोर्स मौजूद हैं। यहां दो साल के इंजीनियरिंग ट्रेड के कई विशेषज्ञ कोर्स हैं। पेंटर, ड्राफ्टमैन, टेक्निशीयन, मशीनिस्ट, इंस्ट्रूमेंट मैकेनिक्स, इंफार्मेशन टेक्नॉलजी, मैकेनिकल मोटर व्हीकल समेत कई ट्रेड में वोकेशनल कोर्सेज में स्टूडेंट्स पढ़ाई कर सकते हैं। ये सभी कोर्स दो-दो साल के हैं, जो सर्टिफिकेट लेवल पर इंस्टीट्यूट में पढ़ाए जाते हैं।
अगर स्टूडेंट सिर्फ 1 साल का कोर्स करना चाहता है तो भी उसके लिए स्पेशलाइज्ड कोर्स मौजूद है। आईटीआई में कारपेंटर, वेल्डर, पेंटर, सर्वेयर, मैकेनिक ऑटो बॉडी रिपेयर, मैकेनिक डिजल, आर्किटेक्चर असिस्टेंट समेत कई और इंजीनियरिंग ट्रेड में एक साल का कोर्स स्टूडेंट्स को किसी खास फील्ड में परफेक्ट बनाएगा। अगर आप इंजीनियरिंग से हटकर कुछ करना चाहते हैं तो नॉन इंजीनियरिंग ट्रेड में भी स्टूडेंट्स के पास मौके हैं। टेक्सटाइल इंजीनियरिंग, हेल्थ सैनिटरी इंस्पेक्टर, स्टेनोग्राफर और सेक्रेटरियल असिस्टेंट, कमर्शल आर्ट, बेसिक कॉस्मेटॉलजी, ड्रेस मेकिंग, डिजिटल फोटोग्राफर, डिजिटल फोटोग्राफी, फूड प्रोडक्शन, फैशनल डिजाइनिंग एंड टेक्नॉलजी, डेस्कटॉप पब्लिशिंग ऑपरेटर समेत कई फील्ड में एक्सपर्ट ट्रेनिंग आप ले सकते हैं। इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट(आईटीआई) और इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (आईओटी) दोनों ही डायरेक्टोरेट ऑफ ट्रेनिंग एंड टेक्निकल एजुकेशन (डीटीटीई) के तहत आते हैं। डीटीटीई के एक अधिकारी बताते हैं, इन सभी कोर्सेज के लिए 12वीं के बाद अप्लाई कर सकते हैं। कुछ के लिए 10वीं के बाद भी स्कोप है। मई से जुलाई के बीच इनके लिए एडमिशन प्रोसेस चलता है। दिल्ली सरकार के कोर्सेज होने की वजह से इन कोर्सेज की फीस भी ज्यादा नहीं है। कोर्स थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों एरिया को कवर करते हैं।
यहां भी हैं
वोकेशनल कोर्स
दिल्ली सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ ट्रेनिंग एंड टेक्निकल एजुकेशन का वल्र्ड क्लास स्किल सेंटर हुनर से जुडक़र भी स्टूडेंट्स वोकेशनल फील्ड से जुड़ सकते हैं। इस सेंटर को सरकार ने सिंगापुर सरकार के इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्निकल एजुकेशन के साथ खड़ा किया है। साउथ दिल्ली के जोनापुर में मौजूद इस सेंटर में चार वोकेशनल कोर्स फिलहाल होते हैं- रिटेल सर्विसेज, हॉस्पिटैलिटी, फाइनेंस एंड अकाउंट्स और इंफार्मेशन टेक्नॉलजी।
इन सभी कोर्स की काफी डिमांड हैं। सरकार का मकसद है कि इस सेंटर की मदद से खासतौर पर स्कूल छोडऩे वाले स्टूडेंट्स को हुनरमंद बनाया जाए ताकि वो किसी ना किसी फील्ड में जम सकें। यह स्कूल नेशनल स्किल डिवेलपमेंट मिशन के तहत खोला गया है। इस सेंटर में जिम, स्पोर्ट्स, योग सेंटर सभी तरह की सुविधाएं हैं। इस सेंटर में पैरामेडिक एंड इमरजेंसी केयर, नर्सिंग, बिजनेस स्टडीज, ब्यूटी एंड वेलनेस, मर्चेंडाइजिंग, बैंकिंग, बीपीओ, प्रोडेक्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग, ऑटोमोबाइल, हेल्थ केयर, टूरिज्म, हॉस्पिटैलिटी एंड टूरिज्म, फाइनेंशल सर्विसेज, ऑटोमोबाइल, फूड प्रोसेसिंग लॉजिस्टिक, आईटी सर्विसेज जैस और भी कई कोर्स हैं। हर साल 10 हजार स्टूडेंट्स इस सेंटर में पढ़ सकते हैं।

All Rights Reserved to Weekand Times . Website Developed by Prabhat Media Creations.