You Are Here: Home » UTTAR PRADESH » टप्पेबाज छुड़ा रहे पुलिस के पसीने राजधानी में थम नहीं रहीं वारदातें

टप्पेबाज छुड़ा रहे पुलिस के पसीने राजधानी में थम नहीं रहीं वारदातें

शिकार को आसानी से झांसे में ले लेते हैं टप्पेबाज
वारदात को अंजाम देने में बच्चों का भी कर रहे इस्तेमाल
कई वारदातों का अभी तक खुलासा नहीं कर सकी पुलिस

 

वीकएंड टाइम्स न्यूज नेटवर्क

लखनऊ। राजधानी में टप्पेबाजी की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। शायद कोई हफ्ता ऐसा बीतता हो जब टप्पेबाज किसी को झांसे में लेकर उसकी गाढ़ी कमाई पर हाथ साफ न कर रहे हो। यही नहीं वे इस काम में बच्चों का भी इस्तेमाल कर रहे हैं। तमाम घटनाओं के बावजूद पुलिस टप्पेबाजों पर शिकंजा कसने में नाकाम साबित हो रही है। हालांकि घटना के बाद पुलिस अपराधी को जल्द पकड़ लेने का दावा
करती है।
टप्पेबाजों ने राजधानी में आतंक फैला रखा है। ये इतने बेखौफ हैं कि भीड़ भरे बाजार में भी घटना को अंजाम देने में गुरेज नहीं करते हैं। किस भी आदमी को ये आनन-फानन में झांसे में ले लेते हैं। झांसे में आते ही वह उसका माल लेकर चंपत हो जाते हैं। झांसा देने के लिए ये नए-नए तरीके अपनाते हैं। ये किसी कार वाले को तेल गिरने की बात कहकर बातों में उलझा लेते हैं। जब तक वह शख्स इनकी हकीकत जान पाता है तब तक वे कार में रखे नगदी या अन्य सामान को पार कर देते हैं। कई बार सडक़ पर रुपये गिराकर भी ये लोगों को झांसा देते हैं। कई बार वे लोगों को विजिलेंस अधिकारी बताकर धन ऐंठ लेते हैं।

आलम यह है कि तमाम वारदातें ऐसी जगह पर हुईं जहां चौबीस घंटे चहल-पहल रहती है और पूरा मार्केट सीसीटीवी कैमरे की निगरानी पर होता है। पिछले दिनों इलेक्ट्रानिक सामान के व्यापारी तगादा लेकर कार से दुकान आ रहे थे। रास्ते में उन्हें एक बच्चा मिला और उस बच्चे ने उनसे कार से तेल गिरने की बात कहीं। इस पर अमित और उनका चालक नीचे उतरे। इस दौरान कार में रखा नगदी से भरा बैग गायब हो गया। बच्चा उनका बैग लेकर फरार हो चुका था। पीडि़त ने थाने पर मामला दर्ज कराया। मौके पर पहुंची पुलिस ने क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाला मगर वह टप्पेेबाज को पकडऩे में नाकाम रही। इसी तरह गाजीपुर थाना क्षेत्र निवासी सुधाकर मिश्रा मॉर्निंग वाक पर गये थे। रास्ते में दो बदमाशों ने उन्हें खुद को पुलिसकर्मी बताकर रोक लिया। बदमाशों के झांसे में आकर सुधाकर ने हाथ में पहनी अंगूठी टप्पेबाजों को दे दी। पता चलने पर पीडि़त बुजुर्ग ने पूरी बात पुलिस को बतायी। पुलिस ने मामला दर्ज कर बदमाशों को जल्द पकडऩे के दावे करने शुरू कर दिए हैं।

आजमाते हैं नई तरकीबें

टप्पेबाज हमेशा नई-नई तरकीबें अपनाते हैं। ऐसा एक मामला बंथरा गांव निवासी संजय सिंह की दुकान पर सेल्समैन का काम कर रहे विद्यासागर शुक्ला के साथ घटी। पिछले दिनों विद्यासागर चार लाख रुपये बैक में जमा कराने पहुंचे। वहां उन्हें दो युवक मिले। युवकों ने उनसे खुल्ले रुपये मांगे। दोनों ने विद्यासागर से दो लाख लिये और उनको नकली रुपयों की गड्डी पकड़ा दी। इसके बाद दोनों फरार हो गये।

राजधानी में हो रही टप्पेबाजी की वारदातों को पुलिस गंभीरता से ले रही है। घटनाओं के खुलासे के लिए टीमें काम कर रही हैं। अधिकांश घटनाओं का खुलासा किया जा चुका है। जिन घटनाओं का खुलासा नहीं हुआ है, उनके लिये पुलिस की टीमें लगातार प्रयास कर रही हंै। जल्द ही अपराधी गिरफ्त में होंगे।
-दीपक कुमार, एसएसपी

All Rights Reserved to Weekand Times . Website Developed by Prabhat Media Creations.