You Are Here: Home » खबरची » यूपी की सियासत में फिर आई अमरकथा

यूपी की सियासत में फिर आई अमरकथा

एक बार फिर से सूबे की सियासत में अमर कथा एक अहम रोल अदा कर सकती है। कांग्रेस से राजनीति की एबीसी सीखने वाले और फिर साइकिल की सवारी कर माननीय बनने वाले ठाकुर साहब इन दिनों राजनीति में हाशिए पर चल रहे थे। जब से उनके सखा मुलायम सिंह के पुत्र अखिलेश यादव ने उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया था तभी से ठाकुर साहब नए ठिकाने की तलाश में थे। अब ऐसा लग रहा है कि वो अपना नया ठिकाना बनाने में कामयाब हो गए। लेकिन जिस मंच से एक बार फिर ठाकुर साहब का नाम सार्वजनिक रूप से लिया गया है उससे विपक्ष की पेशानी पर लकीरें आसानी से देखी जा सकती है। अब जब लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू हो चुकी हैं ऐन वक्त में ठाकुर साहब का भगवा रंग में रंगना यूपी के कई नेताओं के लिए मुसीबत का सबब बन सकता है। अपने तीखे बयानों और दूसरों के कई अहम राजों को अपने सीने में दफन रखने के लिए भी ठाकुर साहब मशहूर हैं। देखना होगा कि उनकी मौजूदगी अब क्या गुल खिलाती है।

All Rights Reserved to Weekand Times . Website Developed by Prabhat Media Creations.