You Are Here: Home » उत्तराखंड » अब साफ सफाई का जिक्र

अब साफ सफाई का जिक्र

  • प्रदेश में चल रहा स्वच्छता अभियान

वीक एंड टाइम्स ब्यूरो

देहरादून। प्रदेश के शहरी इलाकों को गन्दगी से मुक्त और साफ रखने की तरफ आखिरकार सरकार का ध्यान गया। सरकार की रहनुमाई में इन दिनों शहरों को साफ-सुथरा रखने के लिए काम चल रहा है। प्रदेश के शहरी विकास, आवास, राजीव गाँधी शहरी आवास, जनगणना, पुनर्गठन एवं निर्वाचन मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि प्रदेश को स्वच्छ रखने के लिए स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत स्वच्छता कार्यक्रम के लिए 15 दिवसीय अभियान चल रहा है। यह अभियान 2 अक्टूबर तक चलेगा। सचिव स्तर के अधिकारी के अतिरिक्त मंत्री भी इस अभियान में भाग ले रहे हैं।
ये बात अलग है कि राज्य सरकार की आँखें साफ-सफाई पर इसलिए खुली है कि भारत सरकार स्वच्छता मिशन में जुटी हुई है। लिहाजा केंद्र सरकार को खुश करने का तथ्य इसमें ज्यादा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली में खुद झाड़ू लगा के अभियान को शुरू किया है। इस बाबत देहरादून में भी कार्यशाला का आयोजन किया गया। स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 विषय पर मुख्य अतिथि के रूप में मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि आने वाले दिनों में प्रदेश के स्वच्छता विषय पर आमूलचूल परिर्वतन दिखायी देगा। इसके लिए उन्होंने एक स्वस्थ कार्य संस्कृति विकसित करने की आवश्यकता जताई। उन्होंने कहा कि सचिव स्तर के अधिकारी स्वच्छता विषय पर दिन-रात परिश्रम कर रहे हैं। निचले स्तर के कार्मिकों को इनसे प्रेरणा लेनी चाहिए। मंत्री ने कहा स्वच्छता कार्यक्रम व्यक्तिगत कार्यक्रम न होकर समाज में एक महत्वपूर्ण योगदान देने वाला कार्यक्रम है। उन्होंने कहा जो नगर निकाय सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के प्रस्ताव को सरकार के पास भेजेगें। उसे सरकार उदारता पूर्वक स्वीकार भी करेगी।
प्रदेश में डोर टु डोर कूड़ा कलेक्शन और ओडीएफ के क्षेत्र में 100 प्रतिशत का लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है तथा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए दृढ़ इच्छा विकसित हो चुकी है। स्वच्छता कार्यक्रम में भाग लेने वाले कार्मिक, नागरिक को अन्दर से सम्मान का भाव महसूस होता है। इस कार्य को समाज में सराहा भी जाता है। उन्होंने कहा कि अनेक नगर निकाय के अधिशासी अधिकारी इस क्षेत्र में अच्छा कार्य कर रहे हैं। इनसे प्रेरणा लेने की आवश्यकता है। सचिव नगर विकास आरके सुधांशु ने कहा कि यह कार्यशाला भारत सरकार स्वच्छता मिशन कार्यशाला के स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 की क्षमता में वृद्वि करेगा। यह कार्यशाला सालिड वेस्ट मैनेजमेंट के प्रमुख अवयव-सर्टिफिकेशन,स्टार रेटिंग, सिटिजन फीड बैक, स्वच्छता एप तकनीक की मदद से अधिक से अधिक नगर निकाय को सूची में शामिल करने में मदद करेगा।
इस अवसर पर कार्यक्रम में भारत सरकार स्वच्छता मिशन निदेशक नवीन अग्रवाल निदेशक नगर विकास डीएस मनराल, अपर निदेशक नगर विकास यूडी राणा, भारत सरकार के विशेषज्ञ वैभव एंव चित्रा भी मौजूद थे। वैसे जिस तरह हाई कोर्ट के आदेश के अनुपालन में देहरादून समेत राज्य के कई शहरों में अवैध कब्जे और अतिक्रमण हटाने के लिए जबरदस्त ध्वस्तीकरण हो रहा है, उसको देखते हुए साफ-सफाई पर तत्काल कार्रवाई करना जरूरी हो गया है। इस कार्रवाई के बाद शहर में काफी गन्दगी हो गई है.बारिश के बाद अब धूप निकल तो आई है लेकिन इससे बीमारियाँ फैलने की आशंका भी जताई जा रही है.सरकार का स्वच्छता अभियान शहर की आज की आपात कालीन जरूरत हो चुकी है.साथ ही ये भी जरूरी है कि आने वाले दिनों में भी शहर को साफ रखने की तरफ सरकार पर्याप्त और गंभीर रूप से ध्यान दें।

All Rights Reserved to Weekand Times . Website Developed by Prabhat Media Creations.