You Are Here: Home » खबरची

ई…चोटीकटवा गांव में ही काहे घूम रहा है

मुंहनोचवा के बाद अब चोटीकटवा का आतंक अपने चरम पर है। कोई भी दिन ऐसा नहीं होता है जिस दिन चोटीकटवा का कारनामा अखबारों की सुर्खियां न बनता हो। चोटीकटवा के आतंक से तीन प्रदेश त्रस्त हैं। यूपी में तो बड़ी तेजी से यह दूरी तय कर रहा है। पुलिस के सामने दिक्कत यह है कि वह मुंहनोचवा की तरह चोटीकटवा को भी नहीं पहचानती है तो किसे पकड़ ले...हां अगर वारदात एक ही शहर में हो रही होती तो जेम्सबांड टाइप पुलिस वाला किसी को च ...

Read more

टमाटर की सुर्खी से सूखे लोग

टमाटर का स्वाद कैसा होता है...इन दिनों आम लोग भूल चुके हैं। टमाटर जितना ज्यादा लाल होता है उससे भी ज्यादा आम आदमी के दिमाग को हरे कर देने वाले उसके दाम हैं। हालत यह है कि आज टमाटर तो अनार से भी महंगा बिक रहा है। यूं भी हर सीजन में किसी भी एक खाद्य पदार्थ के आसमान छूते दामों में उसे खरीदने या फिर उसके दाम सुनकर ही संतोष कर लेने की आदत लोगों को हो गई है। कभी टमाटर, कभी प्याज तो कभी अरहर की दाल कोई न कोई चीज र ...

Read more

मिल गया यसमैन

आखिरकार टीम इंडिया को वो कोच मिल गया जिसकी लड़ाई विराट लड़ रहे थे। कुंबले के कोच रहते जिस तरह से टीम इंडिया का विजय अभियान शुरू हुआ वह तारीफ के काबिल रहा, लेकिन कुंबले की विदाई ने सबको निराश किया है। हालातों को देखकर तो यही लगता है कि नए कोच के रूप में विराट को एक यसमैन मिल गया है। कुंबले का अनुशासन शायद हमारे कप्तान साहब को पसंद नहीं आ रहा था, लिहाजा उनको एक यसमैन की तलाश थी जो शास्त्री के रूप में पूरी हो ...

Read more

हंटरवाली की दबंगई

यूं तो हाथी वाली पार्टी की बहनजी योगी सरकार पर गुंडई रोकने में फेल होने का आरोप लगा रही है तो दूसरी ओर उन्हीं की पार्टी से मंत्री हाजी याकूब कुरैशी की साहबजादी हंटर वाली बनकर अपनी बेटी के स्कूल में घुसकर ऑन द स्पॉट जजमेंट करने पहुंच गईं। हंटर वाली उनकी बेटी का फोटो इन दिनों मीडिया में खूब वायरल हो रहा है। लेकिन इस तरह के मामले जब भी सामने आते हैं एक बात तो साफ हो जाती है कि सरकार चाहे किसी की हो गुंडई तो बस ...

Read more

जीएसटी का चक्रव्यूह

सरकार के लाख प्रयास के बाद भी आम आदमी से लेकर व्यापारियों तक को जीएसटी की पहेली समझ में नहीं आ रही है। उस पर भी तुर्रा यह है कि जिनको डायरेक्ट और इनडायरेक्ट टैक्स तक के बारे में नहीं पता है वह इस पहेली को और उलझ रहा है। कुछ भाई लोगों का तो यहां तक कहना है कि जिस तरह क्रिकेट में डकवर्थ लुइस नियम को समझना बेहद मुश्किल है उसी तरह जीएसटी के व्यूह को भी भेद पाना आसान है। कहां पर कौन सी चीज पर कितना टैक्स लगेगा क ...

Read more

All Rights Reserved to Weekand Times . Website Developed by Prabhat Media Creations.