You Are Here: Home » राजनीति

बसपा के सामने सियासी जमीन बचाने की चुनौती, नुकसान पहुंचाने में जुटे पुराने साथी

पूर्व बसपा नेता नसीमुद्दीन ने डाली राष्टï्रीय बहुजन गठबंधन की नींव बसपा लगा रही भगवा ब्रिगेड पर बहुजन समाज को तोडऩे का आरोप वीकएंड टाइम्स न्यूज़ नेटवर्क लखनऊ। प्रदेश की राजनीति में अहम भूमिका निभाने वाली बसपा फिलहाल सियासी संकट से जूझ रही है। बसपा प्रमुख मायावती के सामने सियासी जमीन बचाने की चुनौती है। बसपा का सोशल इंजीनियरिंग का फार्मूला पूरी तरह फ्लाप हो चुका है। पार्टी का प्रदर्शन चुनाव दर चुनाव बदतर होत ...

Read more

अगस्त क्रांति का संदेश

नौ अगस्त का दिन भारतीय स्वतंत्रता के इतिहास में अत्यंत महत्वपूर्ण रहा है। महात्मा गांधी ने ‘अंग्रेजों, भारत छोड़ो’ आंदोलन के रूप में आजादी की अंतिम लड़ाई की घोषणा कर दी थी जिससे अंग्रेजी शासन में दहशत फैल गई। चूंकि नौ अगस्त, 1942 को इस आंदोलन की शुरुआत हुई थी इसीलिए इस दिन को अगस्त क्रांति दिवस के रूप में जाना जाता है। नौ अगस्त देश की जनता की उस इच्छा की अभिव्यक्ति थी जिसमें उसने यह ठान लिया था कि हमें आजाद ...

Read more

धन एवं बाहु-बल का तमाशा

संसद के उच्च सदन राज्यसभा भारतीय संघ के राज्यों का प्रतिनिधि सदन है। राज्य विधानसभाओं के निर्वाचित जन-प्रतिनिधि अपने राज्य का प्रतिनिधि चुन कर उच्च सदन में भेजते हैं। चूंकि यह प्रतिनिधि दलीय से ज्यादा राज्य का माना जाता है, इसलिए विधायकों को पार्टी-व्हिप से बांधने की बजाय अपने विवेक या ‘अंतरात्मा की आवाज’ से वोट डालने की छूट दी गयी। यही छूट कालांतर में राज्यसभा चुनाव में विधायकों की खरीद-फरोख्त की आड़ बन गय ...

Read more

क्यों नहीं हो रही है कश्मीरी पंडितों की हत्या की जांच

मुजमिल जलील कश्मीर के ही हैं और कश्मीर पर लगातार लिखते हैं। उनका जब यह मानना है तब जरूर इस बात में दम है। कोर्ट ने ही खारिज किया है, सरकार तो अपनी तरफ से ये काम कर ही सकती है। उसे यह भी बताना चाहिए कि बीजेपी की सरकार बनने के बाद जम्मू कश्मीर में पंडितों के लिए क्या नया और अच्छा हुआ है। कश्मीरी पंडितों की राजनीति का लाभ तो ख़ूब उठाया जाता है मगर कोई हिसाब न मांगता है और न देता है कि तीन साल दिल्ली में और दो ...

Read more

मंत्री बने पर दबंगई गायब

खामोशी संग कर रहे काम हरक, आर्य और सुबोध पर लगाम कैबिनेट की बैठकों में भी कम ही आ रहे सतपाल देहरादून। वह भी जमाना था जब यशपाल आर्य रूठ जाते थे तो कांग्रेस और मुख्यमंत्री हरीश रावत के माथे पर पसीना छलक आता था। अपने मंत्री को लेकर मुख्यमंत्री इतने ज्यादा दबे-दबे कभी नहीं दिखे थे लेकिन आर्य जो कि पिछली कांग्रेस सरकार में कई मलाईदार मंत्रालयों के मंत्री होने के साथ ही काफी समय तक पार्टी अध्यक्ष भी रहे, ने एक प् ...

Read more

All Rights Reserved to Weekand Times . Website Developed by Prabhat Media Creations.