You Are Here: Home » Front Page

दो दिन की चांदनी पर करोडों कुर्बान

देहरादून। बहुत शोर होता है कि गैरसैण को उत्तराखंड की राजधानी बनाया जाए। यह बात जुदा है कि दिल से पूछे तो खुद प्रदेश की ज्यादातर आबादी इसके हक में नहीं होगी। इनमें आम लोग ही नहीं बल्कि मंत्री, विधायक, नौकरशाह और कारोबारी तथा बड़ी कम्पनियां भी शामिल हैं। पहाड़ और मिट्टी के साथ ही पर्यावरण की गहरी समझ रखने वाले भी नहीं चाहते हैं कि राजधानी को देहरादून से कहीं ले जाया जाए। ऐसा भूकंप के नजरिये से इसके बहुत संवेद ...

Read more

राहुल के सिर पर कांटों के ताज

अखिरकार राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बन ही गए। उनके नामांकन के विरोध में किसी ने भी उम्मीदवारी का दावा नहीं किया। निश्चित ही अध्यक्ष बनने के बाद से राहुल की जिम्मेदारियों में इजाफा हो गया है। भले ही राहुल के अध्यक्ष बनने से पहले पार्टी के सारे फैसले उन्हीं की मर्जी से होते थे, पर उसके प्रति सीधे तौर पर उनकी जिम्मेदारी नहीं बनती थी। फिलहाल अब ऐसा नहीं होगा। पार्टी की सफलता और विफलता दोनों का ठीकरा राहुल के स ...

Read more

लुट गया सिडकुल !

देहरादून। उत्तराखंड राज्य का गठन हुआ तो इसकी वास्तविक स्थापना कांग्रेस राज में एनडी तिवारी ने की थी। उन्होंने देखा कि राज्य के पास खाली जमीन बहुत कम है और जंगल ज्यादा हैं। जंगल को छेड़ नहीं सकते थे और खाली जमीनें बंजर या बेकार पड़ी थी। बात 2003 की है। केंद्र सरकार में कई अहम मंत्रालय और उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाल चुके दूरदृष्टि के मालिक तिवारी को लगा कि उत्तराखंड को चलाने के लिए राजस्व और ...

Read more

अब तक का सबसे खराब साबित हुआ यूपी का स्थानीय निकाय चुनाव

उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव में जीत हासिल करने के लिए योगी सरकार ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। सीएम योगी खुद पूरे प्रदेश में जगह-जगह चुनावी रैली कर वोट की अपील की। योगी के साथ डिप्टी सीएम और उनके मंत्री भी चुनाव प्रचार में लगे रहे। मतदाताओं के सामने सीएम योगी ने अपने सात महीने की उपलब्धियों को गिनाया। कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर पर योगी ने हर बार यही कहा कि कानून का उल्लंघन करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा, लेक ...

Read more

कब्जों के इस खेल में कोई बेदाग नही है

देहरादून। उत्तराखंड राज्य बना तो बाहर के भू माफिया तंत्र ने मिट्टी के मोल जमीनें खरीद कर हीरे के भाव जमीनें बेच मोटा माल कमाया। जो जमीन कभी 20 हजार रूपये नहीं बिकती थीं वो आज करोड़ से नीचे नहीं है। जो शहर की जमीनें हैं उनको तो छू पाना भी ज्यादातर के वश से बाहर है। जब एनडी तिवारी मुख्यमंत्री थे तो उन्होंने भू कानून बना कर जमीनों की आसमान छूती कीमतों पर लगाम लगाने की कोशिश की थी। उन्होंने गैर उत्तराखंडियों के ...

Read more

All Rights Reserved to Weekand Times . Website Developed by Prabhat Media Creations.